ईशोपनिषद्. 10

श्रीः  श्रीमते शठकोपाय नमः  श्रीमते रामानुजाय नमः  श्रीमद् वरवरमुनये नमः

अन्यदेवाहुर्विद्ययान्यदाहुरविद्यया ।

इति शुश्रुम धीराणां ये नस्तद्विचचक्षिरे ॥१०॥

पदविभाग

अन्यत् एव आहुः विद्यया अन्यत् आहुः अविद्यया इति शुश्रुम धीराणाम् ये नः तत् विचचक्षिरे

अन्वयार्थ-

( विद्यया ) कर्मरहित विद्या से ( अन्यत् ) दूसरा ( एव ) आश्रय करके मोक्ष-साधन है । (आहुः) ऐसा उपनिषद ग्रन्थ कहते हैं और (अविद्यया) ब्रह्मविद्यारहित कर्म से ( अन्यत् ) दूसरा ही ( आहुः ) मोक्ष-साधन है ऐसा कहते हैं (ये) जिन पूर्वाचार्यों ने (नः) प्रणिपातादिक से सम्यक् उपसन्न हमारे अर्थ ( तत् ) उस मोक्ष-साधन को (विचचक्षिरे ) विचार करके भली-भाँति उपदेश दिया था ( धीराणाम् ) परमात्मा के ध्यान में तत्पर उन धीर पुरुषों के वचन को ( इति ) इस प्रकार ( शुश्रुम ) हमने सुना है ॥१०॥

विशेष अर्थ-

कर्मरहित विद्या से दूसरा ही मोक्ष-साधन है ऐसा रहस्य ग्रन्थ कहते हैं और ब्रह्मविद्याविधुर कर्म से भी दूसरा ही मोक्ष-साधन है ऐसा वेदान्त ग्रन्थ कहते हैं जो पूर्वाचार्य हमारे लिये उस मोक्ष-साधन को विचारकर अच्छी प्रकार से उपदेश दिये हैं उन परमात्मा के ध्यान में तत्पर धीर श्रोत्रिय ब्रह्मनिष्ठ पुरुषों के वचन को इस प्रकार हमने सुना है अथवा केवल विद्या से और ही फल बतलाया गया तथा केवल कर्म से और ही फल बतलाया गया है।

बृहदारण्यकोपनिषद् में लिखा है

‘विद्या देवलोक ( बृह० अ० १ ब्रा० ५ श्रु० १६)

‘कर्मणा पितृलोकः ॥१६॥ .

विद्या से देवलोक प्राप्त होता है ॥ १६॥ कर्मसे पितृलोक प्राप्त होता है | १६||

ऐसा हमने बुद्धिमान् पुरुषों से सुना है जिन्होंने हमारे प्रति उसकी व्याख्या की थी।।

ईशोपनिषद् की दशवीं श्रुति शुक्लयजुर्वेद (अ० ४० मं० १३) में भी है। परन्तु संहिता में ‘अन्यदेवाहुर्विद्याया अन्यदाहुरविद्यायाः’ ऐसा पाठभेद है ।।१०॥

अडियेन माधव श्रीनिवास रामानुज दास

Published by ramanujramprapnna

studying Ramanuj school of Vishishtadvait vedant

4 thoughts on “ईशोपनिषद्. 10

  1. Adiyen ramanuja dasan…
    Excellent blog …
    May Jagath Acharyar bestow abundant grace in devareers kainkaryam sharing several srivaishnava doctrines .

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: